Tuesday, February 3, 2009

घर बुलाता है ..बहुत याद आता है

पहला गाना बच्चों को बहुत अच्छा लगा ...और अब एक और... विदेशों या बड़े शहरों में रहने वाले उन बच्चों के लिए, जिन्हें अपने मम्मी-पापा का साथ बहुत कम मिल पाता है, और वो अपने दादा-दादी और नाना-नानी के मीठे प्यार को अन्दर-ही-अन्दर बहुत मिस करते हैं :

समझा हम को पूरा बच्चा

घुमा -घूमा के देते गच्चा
एक था राजा एक थी रानी

रोज़-रोज़ बस वही कहानी


बच्चा सुन नहीं सकता है

न्यू -न्यू अच्छा लगता है

बात ये समझो बिटिया रानी

जानो हमरी ये परेशानी

कहाँ से लाये पप्पा ज़ानी

रोज़ -रोज़ एक नई कहानी

पप्पा कह नहीं सकता है

तुम बिन रह नहीं सकता है

हमने मन में अब ये ठानी

छुट्टी अब नहीं, यहाँ बितानी

न यहाँ दादी, न यहाँ नानी

बिन हाथ के लड्डू, मीठी बानी

बच्चा रह नहीं सकता है

न्यू -न्यू अच्छा लगता है

करने लगी है अब मनमानी

मेरी गुड़िया हुयी सयानी

हर बात तुम्हारी हमने मानी

रूठो न अब गुड़िया रानी

पप्पा सह नहीं सकता है

तुम बिन रह नहीं सकता है


आप सबका !

नीलेश जैन

मुंबई

04-02-2009

5 comments:

ई-गुरु राजीव said...

हिन्दी ब्लॉगजगत के स्नेही परिवार में इस नये ब्लॉग का और आपका मैं ई-गुरु राजीव हार्दिक स्वागत करता हूँ.

मेरी इच्छा है कि आपका यह ब्लॉग सफलता की नई-नई ऊँचाइयों को छुए. यह ब्लॉग प्रेरणादायी और लोकप्रिय बने.

यदि कोई सहायता चाहिए तो खुलकर पूछें यहाँ सभी आपकी सहायता के लिए तैयार हैं.

शुभकामनाएं !


"टेक टब" - ( आओ सीखें ब्लॉग बनाना, सजाना और ब्लॉग से कमाना )

संगीता पुरी said...

बहुत सुंदर…आपके इस सुंदर से चिटठे के साथ आपका ब्‍लाग जगत में स्‍वागत है…..आशा है , आप अपनी प्रतिभा से हिन्‍दी चिटठा जगत को समृद्ध करने और हिन्‍दी पाठको को ज्ञान बांटने के साथ साथ खुद भी सफलता प्राप्‍त करेंगे …..हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

ई-गुरु राजीव said...

आपका लेख पढ़कर हम और अन्य ब्लॉगर्स बार-बार तारीफ़ करना चाहेंगे पर ये वर्ड वेरिफिकेशन (Word Verification) बीच में दीवार बन जाता है.
आप यदि इसे कृपा करके हटा दें, तो हमारे लिए आपकी तारीफ़ करना आसान हो जायेगा.
इसके लिए आप अपने ब्लॉग के डैशबोर्ड (dashboard) में जाएँ, फ़िर settings, फ़िर comments, फ़िर { Show word verification for comments? } नीचे से तीसरा प्रश्न है ,
उसमें 'yes' पर tick है, उसे आप 'no' कर दें और नीचे का लाल बटन 'save settings' क्लिक कर दें. बस काम हो गया.
आप भी न, एकदम्मे स्मार्ट हो.
और भी खेल-तमाशे सीखें सिर्फ़ "टेक टब" (Tek Tub) पर.
यदि फ़िर भी कोई समस्या हो तो यह लेख देखें -


वर्ड वेरिफिकेशन क्या है और कैसे हटायें ?

gautam said...

Aapne likha hai unke liye jo dur hai...Ek koshish unke liye bhi jo paas rahkr bhi dur hai(!)...

Abhinava Jain said...

Good work, tarannum needs a little improvement.