Monday, January 3, 2011

इस बरस एक वादा करें

इस बरस एक वादा करें
जो हम हैं बस वही होने का
अपनी पहचान को पहचानकर
उसको नहीं खोने का
क्योंकि ख़ुद की झूठी पहचान
एक दिन ख़ुद को ही छल जाती है
वैसे भी चिकने कागज़ पर छपने से
कहानी नहीं बदल जाती है .


---- नया साल मुबारक हो!

आपका नीलेश जैन
मुंबई

3 comments:

दिगम्बर नासवा said...

सच कहा नीलेश जी ... आपको नया साल बहुत बहुत मुबारक ..

सिद्धार्थ प्रियदर्शी said...

गुरुदेव प्रणाम !.....आपको और आपके पूरे परिवार को नवबर्ष की शुभकामनाएं.....
अति उत्तम विचार दिया आपने.....वर्ष का प्रारंभ एक शुभ संकल्प के साथ ही होना चाहिए ..

Apanatva said...

ati sunder........
lagta hai apane baboojee ke sanskar rom rom me pravahit hai........
aasheesh